चारा के बाद अब लालू के परिवार पर लगा मिट्टी घोटाले का आरोप

चारा के बाद अब लालू के परिवार पर लगा मिट्टी घोटाले का आरोप
 बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को राज्य में 'मिट्टी खरीद घोटाले का खुलासा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार की राजधानी पटना में बन रहे एक मॉल की मिट्टी को पर्यावरण एवं वन विभाग ने बिना टेंडर निकाले 90 लाख रुपए में खरीद लिया और इस घोटाले का पूरा लाभ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के परिवार को मिला। 

प्रशांत किशोर ने लिए 9 करोड़, नहीं बनाया विजन डॉक्यूमेंट:सुशील मोदी

कन्हैया का पटना में कार्यक्रम शराब माफियाओं ने कराया : सुशील मोदी

बिहार में असामाजिक तत्वों को मिल रहा राजनीतिक संरक्षणः मोदी

पटना. बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को राज्य में 'मिट्टी खरीद घोटाले का खुलासा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार की राजधानी पटना में बन रहे एक मॉल की मिट्टी को पर्यावरण एवं वन विभाग ने बिना टेंडर निकाले 90 लाख रुपए में खरीद लिया और इस घोटाले का पूरा लाभ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के परिवार को मिला। मोदी ने संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड को हस्तांतरित की गई जमीन पर शॉपिंग मॉल बन रहा है और इस कंपनी में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष के बड़े पुत्र एवं राज्य के पर्यावरण एवं वन मंत्री तेजप्रताप यादव, छोटे पुत्र एवं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तथा उनकी पुत्री चंदा यादव निदेशक हैं। 


लालू के बेटे-बेटी 2014 में बने थे कंपनी के निदेशक

मोदी ने कहा कि वर्ष 2008 में डिलाइट मार्केटिंग कंपनी में 70 प्रतिशत हिस्सेदारी तत्कालीन कंपनी मामलों के मंत्री एवं राजद सांसद प्रेम गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की थी। बाद में कंपनी में 06 जनवरी 2014 को वर्तमान पर्यावरण एवं वन मंत्री तेजप्रताप यादव और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को तथा 26 जून 2014 को राजद अध्यक्ष की पुत्री चंदा यादव को निदेशक नियुक्त किया गया। 


90 लाख का अनुचित लाभ लेने का है आरोप

भाजपा नेता ने इस पूरे प्रकरण के लिए 'आम के आम, गुठलियों के दाम मुहावरे का उदाहरण देते हुए कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का परिवार अपने मॉल की मिट्टी को अपने ही विभाग में बेचकर 90 लाख रुपए की कमाई कर चुका है। उन्होंने कहा कि 90 लाख रुपए का यह काम बिना टेंडर निकाले केवल कोटेशन के आधार पर दे दिया गया। पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले दो महीने से रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक ट्रकों के जरिएमिट्टी की ढुलाई कराई जा रही है, जबकि नियमानुसार, वन्य प्राणी उद्यानों में रात में कोई निर्माण कार्य या इससे जुड़ी गतिविधि संचालित करना निषेधित है। 


सीएम नीतीश से की मंत्री तेजप्रताप को बर्खास्त कर माले की जांच की मांग

उन्होंने कहा कि उद्यान की पार्किंग का ठेकेदार बंटी यादव मिट्टी की ढुलाई कर रहे प्रत्येक ट्रक से चार हजार रुपए की वसूली करता है। मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूरे मामले की जांच कराकर पर्यावरण एवं वन मंत्री तेजप्रताप यादव को बर्खास्त करने की मांग करते हुए कहा कि क्या कोई मंत्री अपनी जमीन से काटी गई मिट्टी को अपने विभाग में खरीद सकता है। क्या बिना टेंडर के 90 लाख रुपए की वस्तु सरकारी विभाग में खरीदी जा सकती है। क्या वन्य प्राणी परिसर में रात में निर्माण कार्य कराया जा सकता है और क्या यह सही नहीं है कि बिहार के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल का निर्माण राजद विधायक की कंपनी करा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार यह भी बताए कि क्या उद्यान को 90 लाख की मिट्टी की आवश्यकता थी या केवल मॉल की मिट्टी खरीदने के लिए जबरदस्ती सौंदर्यीकरण की योजना बनाई गई।