तहसीलदार व पुलिस ने 50 हज़ार रुपया लेकर दलित की ज़मीन पर कराया कब्ज़ा पटियाली कोतवाली क्षेत्र के ग्राम किशोरी नगरा में तहसीलदार व पुलिस ने मिलकर ज़बरन एक दलित की ज़मीन पर कब्ज़ा करा दिया दलित ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर तहसीलदार व कोतवाली पुलिस की शिकायत की हैं

तहसीलदार व पुलिस ने 50 हज़ार रुपया लेकर दलित की ज़मीन पर कराया कब्ज़ा
पटियाली कोतवाली क्षेत्र के ग्राम किशोरी नगरा में तहसीलदार व पुलिस ने मिलकर ज़बरन एक दलित की ज़मीन पर कब्ज़ा करा दिया दलित ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर तहसीलदार व कोतवाली पुलिस की शिकायत की हैं
ग्राम किशोरी नगरा निवासी दलित देवदत्त पुत्र बाबूराम ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शुक्रवार को शिक़ायत की हैं कि उसकी पटियाली बदायूं हाईवे के किनारे स्थित पुश्तैनी ज़मीन है गुरुवार को मेरे विपक्षीगणों ने तहसीलदार,कानूनगों को तीस हज़ार रुपये व कोतवाली पुलिस को बीस हज़ार रुपये देकर अधिकारियों के बल बुते पर नाजायज़ असलहों के बल पर गुरुवार को मेरी ज़मीन पर नीव भर दी जब देवदत्त के भाई छोटेलाल व परिवार के लोगों ने नीव भरने से मना किया तो विपक्षीगणों ने कमर में घुसा तमंचा निकाल कर सीधा कर दिया और कहा कि जान प्यारी हैं तो भाग जाओ और ज़मीन प्यारी हैं तो मरने के लिये तैयार हो जाओ देवदत्त ने अपनी शिकायत में यह भी कहा हैं कि कनीगों,कोतवाली प्रभारी निरीक्षक व तहसीलदार भ्रष्टाचार में लिप्त होने के कारण प्रार्थी की कोई बात सुनने को तैयार नही हैं देवदत्त ने मुख्यमंत्री से मांग की हैं कि उसकी ज़मीन को कब्ज़ा मुक्त कराकर दोषी अधिकारियों व कोतवाल जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने की मांग की हैं
ग्राम किशोरी नगरा निवासी दलित देवदत्त पुत्र बाबूराम ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शुक्रवार को शिक़ायत की हैं कि उसकी पटियाली बदायूं हाईवे के किनारे स्थित पुश्तैनी ज़मीन है गुरुवार को मेरे विपक्षीगणों ने तहसीलदार,कानूनगों को तीस हज़ार रुपये व कोतवाली पुलिस को बीस हज़ार रुपये देकर अधिकारियों के बल बुते पर नाजायज़ असलहों के बल पर गुरुवार को मेरी ज़मीन पर नीव भर दी जब देवदत्त के भाई छोटेलाल व परिवार के लोगों ने नीव भरने से मना किया तो विपक्षीगणों ने कमर में घुसा तमंचा निकाल कर सीधा कर दिया और कहा कि जान प्यारी हैं तो भाग जाओ और ज़मीन प्यारी हैं तो मरने के लिये तैयार हो जाओ देवदत्त ने अपनी शिकायत में यह भी कहा हैं कि कनीगों,कोतवाली प्रभारी निरीक्षक व तहसीलदार भ्रष्टाचार में लिप्त होने के कारण प्रार्थी की कोई बात सुनने को तैयार नही हैं देवदत्त ने मुख्यमंत्री से मांग की हैं कि उसकी ज़मीन को कब्ज़ा मुक्त कराकर दोषी अधिकारियों व कोतवाल जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने की मांग की हैं